गुलशन ग्रोवर ने लॉन्च की बायोग्राफी, बोले- अक्षय की सलाह पर कॉपीराइट करवाया बैड मैन टाइटल

गुलशन ग्रोवर ने शुक्रवार को अपनी बायोग्राफी लॉन्च की जिसका नाम उन्होंने बैड मैन रखा है। गुलशन हिंदी फिल्मों के सबसे चर्चित और पसंदीदा खलानायकों में से एक रहे हैं। अपने नेगेटिव किरदारों की वजह से उन्होंने बैड मैन के नाम से पहचान बनाई। एक्टर के मुताबिक अक्षय कुमार की वजह से उन्होंने अपनी जीवनी का नाम बैड मैन रखा है। उन्होंने बताया- ‘अक्षय ने मुझसे कहा था कि जिस तरह खिलाड़ी नाम उन्होंने अपने नाम पर रजिस्टर करवा लिया है। मुझे भी बैड मैन नाम कॉपीराइट करवा लिया है। इसलिए मैंने बायोग्राफी का नाम बैड मैन रख लिया।

कोई भी अपनी जीवनी से पैसा नहीं कमाना चाहता है: गुलशन

गुलशन ने बायोग्राफी में अपने संघर्ष को बयां किया है। इस बारे में एक्टर ने कहा- ‘कोई भी अपनी जीवनी पैसा कमाने के लिए नहीं लिखता है। जो भी अपनी जीवनी लिखता वो यही सोच कर लिखता है कि लोग उनके संघर्ष को जानें और उससे कुछ सीख सकें। कोई भी चीज किसी को तरक्की करने या आगे बढ़ने से नहीं रोक सकती। मैंने भी ये किताब सिर्फ इसलिए लिखी है ताकि लोग इसे पढ़ने के बाद ये समझ सकें कि आपकी खराब माली हालात या गरीबी सफलता की दीवार नहीं बन सकती।’

बॉलीवुड के साथ हॉलीवुड में भी किया काम

गुलशन ने मोहरा, राम-लखन और दिलवाले जैसी फिल्मों में खलनायक को रोल निभाया है। उन्होंने 400 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है। इतना ही नहीं उन्होंने हॉलीवुड की भी कई फिल्मों में काम किया है। जिनमें माइ हॉलीवुड ब्राइड, प्रिजनर्स ऑफ द सन और ब्लाइंड एम्बीशन प्रमुख हैं। 

मुंबई आ कर किया संघर्ष

अपने सफर के बारे में एक्टर बताते हैं- ‘मैं मिडिल क्लास फैमिली से था। दिल्ली यूनिवर्सिटी से कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया और पढ़ाई खत्म होने के बाद तय किया कि एक्टिंग में करियर बनाऊंगा। मेरे परिवार से कोई भी इस फील्ड में नहीं था तो मुंबई आकर काफी संघर्ष करना पड़ा। पहले एक्टिंग स्कूल ज्वाइन किया फिर फिल्मों के लिए ऑडिशन दिए।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

Bajrang must learn to retain focus for six full minutes: Coach Shako Bentinidis

Sat Jul 27 , 2019
Share on Facebook Tweet it Email Share on Facebook Tweet it Email New Delhi, 27 July, 2019: Medal-contender Bajrang Punia must shed the habit of losing focus if he is to stand atop the podium at the Tokyo Games, warned his coach Shako Bentinidis while conceding that old habits die hard. The Georgian has immense faith in his ward, saying Bajrang is best among the current Indian crop […]